Ek Yogi Ki Aatmkatha (Paperback) (Hindi)- Paramhans Yogananda
0% Discount

Ek Yogi Ki Aatmkatha (Paperback) (Hindi)- Paramhans Yogananda

Paramhans Yogananda
    ISBN 9789353492212
₹ 165 ₹ 165
  • Worldwide Delivery
  • Out of Stock
- +
Book Details
  • Publisher ‏ : ‎ पेंगुइन बुक्स इंडिया (1 January 2019); पेंगुइन बुक्स इंडिया
  • Language ‏ : ‎ Hindi
  • Paperback ‏ : ‎ 360 pages
  • ISBN-10 ‏ : ‎ 9353492211
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 9789353492212
  • Item Weight ‏ : ‎ 280 g
  • Dimensions ‏ : ‎ 20.3 x 25.4 x 4.7 cm
  • Country of Origin ‏ : ‎ India
Share This Page

Description

यह एक ऐसी पुस्तक है, जो मन और आत्मा के द्वार खोल देती है। किताब की खासियत है कि यह योगियों के बारे में खुद एक योगी द्वारा लिखी गई किताब है।
आत्मकथा को परमहंस योगानंद ने बेहद सिलसिलेवार ढंग से लिखा है। बचपन से लेकर बाकी के सफर में आए महान योगियों और उनके विलक्षण जीवन के बारे में जो वृतांत आपको इस किताब में मिलते हैं, वे कहीं और मिलने मुश्किल हैं। दूसरे ग्रहों पर बसने की ललक वाले इस युग में आध्यात्मिक चमत्कारों पर यकीन भले ही मुश्किल हो, लेकिन जब आप एक प्रत्यक्षदर्शी योगी के मुंह से उनका वर्णन सुनते हैं तो अभिभूत हुए बिना नहीं रह सकते। योगानंद के इन वृतांतों के साथ उनके आध्यात्मिक अध्ययन की अनूठी झलक इस अनुभव को और अद्भुत बना देती है। पैदा होते ही उनके लिए जिस तरह की भविष्यवाणियां हुईं और उनकी सत्यता जिस तरह उनके पूरे जीवन में सामने आती रहीं, ऐसा विरले ही होता है।

Review

(0) (Overall)

Add your Reviews

Rating:
Login Register Help Track Order Cancel Order Bulk Order Available Coupons Shipping Policy Refund & Return Policy Terms & Conditions Privacy Policy Contact Us Sitemap